Deewani

Short Poem (Hindi) 

दीवानी "


लोग कहते हैं मैं दीवानी हूँ, ⁣
तेरे पास जो बार-बार आती हूँ |⁣
अब क्या कहे ये इश्क़ ही कम्बख़्त ऐसा हैं, ⁣
जितना रोको ये रोग उतना ही बढ़ता है


Anupriya Asthana

© Anupriya Asthana and Hashtag Inkpen, 2018

Comments

Popular posts from this blog

Time

I See God In