Jashan

Short Poem (Hindi) 


" जशन"

आज का जशन कुछ ऐसा होगा⁣
सूफी संगीत और हाथ में एक प्याला चाय का होगा ⁣

ऊनी सी चादर ओढ़े⁣
सपनों की महफिल सजाये⁣

एक हलकी सी मुस्कुराहट चेहरे पर लिए⁣
पुराने पलों को थोड़ा याद करके⁣

आँखें थोड़ी नम होंगी⁣
दिल में थोड़ा दर्द भी होगा⁣

लेकिन नए सफर के आग़ाज़ में ⁣
एक बार फिर दिल झूम उठेगा!! ⁣⁣


                                      
  Anupriya Asthana
Hashtag Inkpen Logo
 
© Anupriya Asthana and Hashtag Inkpen, 2019

Comments

Post a Comment

Your comments are highly appreciated!

Popular posts from this blog

The Pros and Cons of Cloud Backup and Disaster Recovery

10 Reasons Why Microlearning is Important in Corporate Training